प्रतिष्ठित बैकरेट वेबसाइट

प्रतिष्ठित बैकरेट वेबसाइट

time:2021-10-21 16:26:06 Petrol Prices: पेट्रोल-डीजल-गैस के भाव में आपको जल्द नहीं मिलने वाली है राहत, IMF के एक्सपर्ट सरकार को क्यों दे रहे हैं ऐसी सलाह Views:4591

तीन पत्ती आवेदन प्रतिष्ठित बैकरेट वेबसाइट 10cric साइन अप,casumo जुआ आयोग,लियोवेगास साइन अप,lovebet कोड 00,lovebet भारत में काम नहीं कर रहा है,lovebet जाम्बिया लॉगिन,क्या ऑनलाइन कैसीनो विश्वसनीय हैं?,बैकरेट मुक्त विश्लेषण सॉफ्टवेयर,बैकारेट फूलदान विंटेज,भारत में सट्टेबाजी कानूनी ताजा खबर,कैसीनो समुद्र तट,कैसीनो वेक्टर,क्लासिक रम्मी रणनीति,बच्चों के लिए क्रिकेट किट,ई स्पोर्ट्स ज़ुकुनफ़्ट,बकारट रोड का अनुभव,फ़ुटबॉल ऑड्स ट्रेडर स्पष्टीकरण,उत्पत्ति कैसीनो Quora,फ़ुटबॉल खेल का विश्लेषण कैसे करें,आईपीएल नई टीम,जैकपॉट यूटाह,मियामी में लाइव लाठी टेबल,लॉटरी 07/05/21,लॉटरी जाम्बिया,एनबीए डाइविंग रैंकिंग,असली पैसे के साथ ऑनलाइन कैसीनो,ऑनलाइन पोकर कोस्टेनलोस ओह्ने एन्मेल्डुंग,पैरामैच हॉर्स रेसिंग,कैसीनो में पोकर,असली ड्रैगन टाइगर क्रैकिंग,नियम हाथ सही,रम्मी वेरिएंट प्रश्न,स्लॉट मशीन कुंजी प्रतिस्थापन,खेल 66,स्पोर्ट्सबुक जॉब रिमोट,टेक्सास होल्डम मानोस,टोटल फ़ुटबॉल,अगर आप ऑनलाइन बैकारेट में पैसे खो देते हैं तो क्या करें?,एक्स-पोकर ऐप,ऊटी गोवा,क्रिकेट cake,गोवा घूमने की जगह बताओ,ड्रैगन किंग,फुटबॉल हिंदी नाम,बेटा वीडियो सॉन्ग,लॉटरी पंजाब result, .Petrol Prices: पेट्रोल-डीजल-गैस के भाव में आपको जल्द नहीं मिलने वाली है राहत, IMF के एक्सपर्ट सरकार को क्यों दे रहे हैं ऐसी सलाह

नई दिल्ली
Petrol Rate: अगर आप भी पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस के बढ़ते भाव से परेशान हैं तो यह जान लीजिए कि आपको इससे जल्द राहत नहीं मिलने जा रही है। इंटरनेशनल मोनेटरी फंड (IMF) की भारतीय इकाई के पूर्व प्रमुख अल्फ्रेड चिपके ने कहा है कि भारत की मैक्रो इकोनॉमिक स्थितियों के हिसाब से सरकार को पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस जैसे इंधन पर टैक्स की मौजूदा दरें बनाए रखनी चाहिए।

आईएमएफ इंडिया के पूर्व चीफ ने कहा है कि कोरोनावायरस संकट के बाद देश के लोगों की स्थिति में सुधार के लिए सरकार को लोगों की मदद करने की जरूरत है। सरकार उसके लिए जरूरी रकम पेट्रोल-डीजल और रसोई गैस पर अधिक टैक्स लगाकर ही जुटा सकती है।

यह भी पढ़ें: NPS: आपका नियोक्ता भी एनपीएस के जरिए टैक्स बचाने में कर सकता है मदद, जानिए कैसे

इकनोमिक रिकवरी के संकेत
आईएमएफ इंडिया के पूर्व प्रमुख ने कहा है कि भारत में इकनोमिक रिकवरी दर्ज की जा रही है और हाई फ्रिकवेंसी इंडिकेटर्स के हिसाब से देश की अर्थव्यवस्था में निवेश और खपत में वृद्धि दर्ज की जा रही है। यह आगे भी जारी रहने की उम्मीद है। चिपके ने कहा है कि देश में कोरोनावायरस टीकाकरण की स्पीड बढ़ाने से सामान्य आर्थिक गतिविधियों में तेजी आ सकती है। इसी वक्त भारत की अर्थव्यवस्था में उतार-चढ़ाव के खतरे अभी बने हुए हैं।

महंगे पेट्रोल से कमाकर गरीबों की मदद
आईएमएफ इंडिया के पूर्व प्रमुख ने कहा कि केंद्र सरकार और राज्य सरकारों द्वारा इंधन पर जो टैक्स लगाया गया है, वह उनकी आमदनी का प्रमुख स्रोत बन गया है। कोरोनावायरस संकट के दौर में सरकारों को इससे काफी मदद मिली है और गरीब परिवारों को इसके जरिए मदद देने की कोशिश की जा रही है। सरकार पेट्रोल पर भारी टैक्स से रकम जुटा कर हेल्थ केयर जैसे सेक्टर में काफी काम कर सकती है।

मौजूदा टैक्स रहे कायम
उन्होंने सरकार को सुझाव दिया है कि ईंधन पर टैक्स की मौजूदा दरें बनाई रखी जानी चाहिए और इससे कम आमदनी वाले लोगों की मदद की जानी चाहिए। इंधन पर टैक्स की दरें घटाने से अमीर लोगों को मदद मिलती है, इसलिए सरकार को ईंधन पर टैक्स की मौजूदा दर जारी रखनी चाहिए।

महंगाई की चिंता बनी रहेगी
देश में महंगाई के मुद्दे पर आईएमएफ के पूर्व भारत प्रमुख ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था पर महंगाई का दबाव अगले कुछ दिनों तक बने रहने की आशंका है। कोरोना संक्रमण जैसे संकट की वजह से आपूर्ति में जो बाधाएं पैदा हुई है उसकी वजह से भी महंगाई पर दबाव देखा जाएगा। चिपके ने कहा है कि छोटी अवधि का इन्फ्लेशन आउटलुक खाद्य पदार्थ की कीमत और बेस इफेक्ट के बाद थोड़ा सुधर सकता है।

यह भी पढ़ें: लगातार दूसरे दिन पेट्रोल-डीजल में लगी आग, पटना में पेट्रोल 110 रुपये के पार, जानें अपने शहर में दाम

EPF ऑनलाइन कैसे करें ट्रान्सफर

EPFO ने मेंबर इंप्लॉइज को EPF का पैसा ऑनलाइन ट्रांसफर करने की सुविधा उपलब्ध कराई हुई है। यानी बिना कहीं जाए घर बैठे मेंबर इंप्लॉई EPF के पैसे को एक खाते से दूसरे EPF खाते में ट्रांसफर कर सकता है। आज इस वीडियो में जानते हें इसकी पूरी प्रॉसेस...
In Video: EPF ऑनलाइन कैसे करें ट्रान्सफर

टॉपिक

tax on petroltax on dieseltax on lpgपेट्रोल पर भारी टैक्सडीजल पर टैक्सएलपीजी की कीमतगैस के भावआईएमएफ के पूर्व प्रमुखinflation in indiaimf india ex chief

ETPrime stories of the day

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता हैसाल में कम से कम एक निवेश की समीक्षा जरूर करें और दोबारा संतुलन बनाएं. अपने लिए पर्याप्‍त लाइफ इंश्‍योरेंस खरीदें.Petrol Prices: पेट्रोल-डीजल-गैस के भाव में आपको जल्द नहीं मिलने वाली है राहत, IMF के एक्सपर्ट सरकार को क्यों दे रहे हैं ऐसी सलाह

ईटीएफ नए निवेशकों के लिए अच्‍छा विकल्‍प है. इसके लिए डीमैट अकाउंट की जरूरत होगी.इंडेक्‍स फंडों की तरह ईटीएफ अमूमन किसी खास मार्केट इंडेक्स को ट्रैक करते हैं. इनका प्रदर्शन उस इंडेक्‍स जैसा होता है.उच्चतम न्यायालय ने सैट के आदेश के खिलाफ सेबी की याचिका खारिज की: पीएनबी हाउसिंग

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) पेट्रोल और डीजल की कीमतों में बृहस्पतिवार को 35 पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की गयी जिसके साथ देश भर में ईंधन की कीमतें रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गयीं। ईंधन की कीमतों में लगातार दूसरे दिन इजाफा किया गया है।सरकारी खुदरा ईंधन विक्रेताओं की मूल्य अधिसूचना के अनुसार, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत रिकॉर्ड 106.54 रुपये प्रति लीटर और मुंबई में 112.44 रुपये प्रति लीटर हो गयी।वहीं मुंबई में, डीजल अब 103.26 रुपये प्रति लीटर पर मिल रहा है जबकि दिल्ली में इसकी कीमत 95.27 रुपये प्रति लीटर है।कीमतों में बढ़ोतरी का यह लगातार दूसरा दिनसमय गुजरने के साथ उन्‍हें इक्विटी में निवेश कम कर देना चाहिए. इसके बजाय धीरे-धीरे डेट फंडों की ओर रुख करना चाहिए.ईटीएफ के बारे में यहां जानिए अपने हर सवाल का जवाब

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
रम्मीकल्चर कृपया डाउनलोड करें

बेटी की शिक्षा और शादी के लिए माता-पिता पैसा जोड़ पाएं, इस मकसद के साथ यह स्‍कीम लॉन्‍च की गई थी.

कैसीनो डेज कस्टमर केयर नंबर

Covid Jab: सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कोरोना की वैक्सीन कोविशील्ड (Covishield) बना रही है। भारत के साथ-साथ दुनिया के कई देशों की इसकी आपूर्ति की जा रही है।

फुटबॉल सट्टेबाजी की शर्तें

विशेषज्ञों का कहना है कि औद्योगिक कमोडिटीज में निवेश से सोने के मुकाबले बढ़िया रिटर्न मिल सकता है

ऑनलाइन कैसीनो असली पैसा nz

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक ऊर्जा कंपनी बीपी पीएलसी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ साझेदारी में मुंबई के पास 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत अपना पहला पेट्रोल पंप खोलने जा रही है। गौरतलब है कि ब्रिटिश कंपनी ने 2019 में एक अरब डॉलर में रिलायंस के स्वामित्व वाले 1,400 से अधिक पेट्रोल पंप और 31 एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) स्टेशनों में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। रिलायंस के मौजूदा पेट्रोल पंपों को इसके बाद दोनों कंपनियों के संयुक्त उद्यम रिलायंस बीपी मोबिलिटी लि. के अधीन कर दिया गया। संयुक्त उद्यम 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत काम करेगा।

री कैसीनो खोलना

कोलकाता, 20 अक्टूबर (भाषा) निर्यातकों ने बांग्लादेश के लिए माल ले जा रहे ट्रकों के लिए पेट्रापोल और घोजाडांगा जमीनी सीमाओं पर लंबी प्रतीक्षा अवधि को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है। निर्यातकों ने बुधवार को बताया कि माल निर्यात करने वाले ट्रकों को एक महीने से अधिक समय के लिए रोका हुआ है। कुछ मामलों में ट्रक 55 दिनों से खड़े हुए हैं। फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट्स के चेयरमैन (पूर्व) सुशील पटवारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “ट्रकों की लंबी प्रतीक्षा अवधि के कई कारण है। दोनों देशों से निर्यात की मात्रा बढ़ी है और दुर्गा पूजा की छुट्टियों ने

संबंधित जानकारी
छत्तीसगढ़ स्पोर्ट्स

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक ऊर्जा कंपनी बीपी पीएलसी ने बृहस्पतिवार को कहा कि वह रिलायंस इंडस्ट्रीज के साथ साझेदारी में मुंबई के पास 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत अपना पहला पेट्रोल पंप खोलने जा रही है। गौरतलब है कि ब्रिटिश कंपनी ने 2019 में एक अरब डॉलर में रिलायंस के स्वामित्व वाले 1,400 से अधिक पेट्रोल पंप और 31 एविएशन टर्बाइन फ्यूल (एटीएफ) स्टेशनों में 49 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी थी। रिलायंस के मौजूदा पेट्रोल पंपों को इसके बाद दोनों कंपनियों के संयुक्त उद्यम रिलायंस बीपी मोबिलिटी लि. के अधीन कर दिया गया। संयुक्त उद्यम 'जियो-बीपी' ब्रांड के तहत काम करेगा।

गरम जानकारी