डेज़ इन मॉन्कटन कैसीनो

Publishing time:2021-10-21 15:18:30

गोवा 6 डेज़ इन मॉन्कटन कैसीनो 188bet केरेन,casumo यूके,lovebet 10000 बोनस,lovebet esport cá cc,lovebet क्वेजले,लवबीटा टेलीचार्जर ग्रेच्युटीमेंट,बकारा हाँ सर मैं गीत बूगी कर सकता हूँ,बैकारेट फुर्सत से भरा है,बैकारेट की स्थिर जीत,बेटिंग व्हाट्सएप ग्रुप इंडिया,कैसीनो ड्रेस कोड,एनसी . में कैसीनो,क्रेडिट अंतर्राष्ट्रीय कैसीनो,व्हाट्सएप के लिए क्रिकेट उद्धरण,esports का कोई लाइव स्ट्रीम नहीं है,मछली पकड़ना,फुटबॉल स्थानांतरण,वैश्विक ऑनलाइन मनोरंजन,ऑनलाइन नकद जुआ कैसे करें,आईपीएल जीरम कवकनाशी,जंगल रम्मी फ्री,दुबई में लाइव कैसीनो,लॉटरी बाजार आज का परिणाम,लूडो हिंदी फिल्म,ओ फुटबॉल भविष्यवाणी,ऑनलाइन गेम बोर्ड,ऑनलाइन पोकर wsop,परिमच यूके,पोकर ऑनलाइन qq,री कैसीनो खेल सट्टेबाजी,नियम शून्य इंटरनेट,रम्मीकल्चर फेयर प्ले पॉलिसी,स्लॉट मशीन विकी,स्पोर्ट्स डी लाइव,स्पोर्ट्सबुक याहू,टेक्सास होल्डम याकूब 0,यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल गेम,किस बोर्ड गेम में स्टड है?,21 बजे day,ऑनलाइन पैसे कैसे कमाए game,क्रिकेट इन्फो,गोवा भारत में कब मिला,तीन पत्ती पैसे वाला गेम,बकरी ऐप,बैकारेट questions,स्टेटस अँप्स, .सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

क्रिप्‍टोकॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
हाल के कुछ समय में युवाओं की क्रिप्‍टोकरेंसी में दिलचस्‍पी बढ़ी है. इसे देखते हुए नए युग की टेक्‍नोलॉजी कंपनियां ऐसे कर्मचारियों को उनकी सैलरी का कुछ हिस्‍सा, बोनस या अन्‍य इंसेंटिव क्रिप्‍टोकरेंसी में दे रही हैं. कंपनियों के लिए यह पेमेंट का आसान और तेज तरीका है. वहीं, क्रिप्‍टोकरेंसी के बढ़ते मूल्‍य कर्मचारियों को लुभा रहे हैं.

कंपनियों ने इसके लिए दो तरीके अपनाएं हैं. पहला, खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराना और कानूनी या टैक्‍स संबंधी अड़चनों से कर्मचारियों को बचाने के लिए क्रिप्‍टोकरेंसी में उन्‍हें पेमेंट करना है. दूसरा, पेमेंट का रिकॉर्ड रुपये में ट्रांजैक्‍शन के तौर पर अपने बहीखातों में दर्ज करना है.

इसे भी पढ़ें : फ्रेशर्स के लिए मौका, कंपनियां बड़े पैमाने पर कर रही हैं भर्ती

यह कैसे काम करता है?
- क्रिप्‍टो कॉइन में पेमेंट की योजना बनाने वाली कंपनियों ने खुद को क्रिप्‍टो-फ्रेंडली देशों में रजिस्‍टर कराया है.
- कंपनियों ने यह भी सुनिश्चित किया है कि रुपया क्रिप्‍टो कॉइन में कन्‍वर्ट हो सके और रुपये ट्रांजैक्‍शन के तौर पर पेमेंट रिकॉर्ड हों.
- ऐसी ज्‍यादातर कंपनियां टीथर (यूएसडीजी) का इस्‍तेमाल करती हैं. ये ज्‍यादा स्थिर क्रिप्‍टोकरेंसी हैं. इसका कन्‍वर्जन 1 डॉलर से सीधे 1 यूएसडीटी में हो जाता है.
- अन्‍य इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन में पेमेंट करती हैं.

देश में स्थिति नहीं है साफ
देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं. चेन एसेट्स कैपिटल नाम के क्रिप्‍टो हेज फंड के प्रमुख उपिंदर प्रीत सिंह ने कहा कि भारत में क्रिप्‍टोकरेंसी की मान्‍यता को लेकर बहुत से नियम हैं. इनमें स्‍पष्‍टता का भी अभाव है.

पटना में रहने वाले कंसल्‍टेंट सुजीत कुमार ने कहा, ''क्रिप्टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये ऑल्‍टकॉइन को भुनाने के बाद मैंने इस रकम को टैक्‍स रिटर्न में कंसल्‍टेंट फीस के तौर पर इनकम में दिखाया है.''

इसे भी पढ़ें : अगर आपके पास ये स्किल्‍स हैं तो नौकरी की नहीं है कमी

कुमार को इथीरियम, प्‍लास टोकन और ऑडियो कॉइन जैसे ऑल्‍टकॉइन का भुगतान होता है. इसे वह भारतीय क्रिप्‍टोकरेंसी एक्‍सचेंज के जरिये भुनाते हैं. वह कहते हैं, ''मैं अमूमन अपनी जरूरत के अनुसार कॉइंस को कन्‍वर्ट करता हूं. मेरे ज्‍यादातर क्‍लाइंट क्रिप्‍टोकरेंसी मार्केट में हैं. लिहाजा, ट्रांजैक्‍शन आसानी और तेजी से हो जाता है. मैंने पिछले साल का अपना बोनस भी क्रिप्‍टोकरेंसी के जरिये लिया है.''

एक क्रिप्‍टोकरेंसी न्‍यूज वेबसाइट के सीईओ ने कहा, ''हम जहां क्रिप्‍टाकरेंसी में सैलरी का भुगतान करते हैं, वहां नियमों का पूरा पालन किया जाता है. कर्मचारियों को रुपये में सैलरी स्लिप दी जाती है. यह कर्मचारियों की क्रिप्‍टो में सैलरी स्लिप की आशंका को दूर सकता है.''

क्‍या है सरकार का रुख?
केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने शनिवार को कहा कि सरकार गवर्नेंस में सुधार के लिए क्रिप्टोकरेंसी सहित नई तकनीकों पर विचार करने को तैयार है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद गवर्नेंस के विभिन्न पहलुओं में टेक्‍नोलॉजी को अपनाने के मजबूत समर्थक हैं. इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शुक्रवार को कहा था कि सरकार अभी भी क्रिप्टोकरेंसी पर अपनी राय तैयार कर रही है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

क्रिप्‍टोकरेंसीप्‍लास टोकनट्रांजैक्‍शनसैलरी और पर्क्‍स का पेमेंटइथीरियम

ETPrime stories of the day

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’
Strategy

Tech on board: Chalo navigates the tricky terrain of mass mobility with its ‘OS for buses’

8 mins read
Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle
Aviation

Rahul vs. Rakesh: turbulence ahead for IndiGo as promoters turn up the heat in legal battle

10 mins read
Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.
Banking

Inside story of how Centrum and BharatPe ‘unified’ for their banking dream. But challenges start now.

15 mins read
सैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) वोडाफोन आइडिया ने बुधवार को कहा कि उसके निदेशक मंडल ने दूरसंचार क्षेत्र के लिए राहत पैकेज के तहत सरकार द्वारा स्पेक्ट्रम भुगतान पर दी जा रही चार साल की मोहलत का लाभ उठाने को मंजूरी दे दी है। दूरसंचार कंपनी ने शेयर बाजार को दी सूचना में कहा कि दूरसंचार विभाग की अधिसूचना में दिए गए अन्य विकल्पों पर निदेशक मंडल द्वारा निर्धारित समयसीमा के भीतर विचार किया जाएगा। वोडाफोन आइडिया ने कहा, ‘‘... हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि कंपनीडिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.भारत ने कतर से 2015 के एलएनजी कार्गो की अब आपूर्ति मांगी

देश में क्रिप्‍टोकरेंसी को लेकर स्थिति बहुत साफ नहीं है. कर्मचारी और कंपनियां दोनों इसे लेकर टैक्‍स के बारे में चिंतित हैं.अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है.सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) कृषि श्रमिकों और ग्रामीण मजदूरों के लिए खुदरा मुद्रास्फीति सितंबर में घटकर क्रमश: 2.89 प्रतिशत और 3.16 प्रतिशत पर आ गई, जिसका मुख्य कारण कुछ खाद्य पदार्थों की कीमतों में कमी है। श्रम मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘‘सीपीआई-एएल (उपभोक्ता मूल्य सूचकांक-कृषि मजदूर और सीपीआई-आरएल (उपभोक्ता मूल्य सूचकांक-ग्रामीण मजदूर)) पर आधारित मुद्रास्फीति अगस्त, 2021 के क्रमशः 3.90 प्रतिशत और 3.97 प्रतिशत की तुलना में सितंबर, 2021 में क्रमश: 2.89 प्रतिशत और 3.16 प्रतिशत रही।’’ बयान में कहा गया कि सितंबर, 2020 मेंउन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.भारत ने कहा, मत्स्य पालन सब्सिडी पर मौजूदा मसौदा ‘असंतुलित’

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


r स्टेटस
फुटबॉल और लॉटरी
कैसीनो गर्व
पांच कारों का सबसे अच्छा परिवार
असली पैसे
छोटे स्पोर्ट्स
lovebetाफिश
क्रिकेट प्रवेश फॉर्म 2021
तीन पत्ती ताश की
जैकपॉट खेल xyz
आज का लॉटरी खेल का रिजल्ट
lovebet टेलीग्राम ग्रुप लिंक
lovebet क्या है हिंदी में
lovebet यूके
लिंक लवबेट खोंग बị चुनो
फुटबॉल सिंगल गेम
गोवा लोकेशन
रम्मी 9 कार्ड
21 बजे lyrics
गोवा की राजधानी
बकरा खरीदना है
डीए क्रिकेट स्टेडियम कराची
निर्यात राजस्व
डीएच फुटबॉल शर्ट
क्रिकेट के बल्ले में
क्रिकेट icc
लियोवेगास अंग्रेजी