बैकारेट 9 पीस नाइफ ब्लॉक सेट समीक्षा

बैकारेट 9 पीस नाइफ ब्लॉक सेट समीक्षा

time:2021-10-25 22:49:29 लंबी अवधि में जमा के लिए पोस्ट ऑफिस का रुख कर रहे हैं निवेशक Views:4591

मैं शतरंज समर्थक APK बैकारेट 9 पीस नाइफ ब्लॉक सेट समीक्षा 10cric न्यूनतम जमा राशि,casumo दशमलव ऑड्स,लियोवेगास पेपैल निकासी समय,lovebet बोनस कोड,मेरे पास lovebet,lovebet वार्षिक राजस्व,ऐ बैकारेट 2021,बैकारेट ने समझाया,बैकरेट ट्रेडिंग सिस्टम,बेटिंग आईडी हैकिंग सॉफ्टवेयर,कैसीनो एक पेरिस,कैसीनो ट्रेलर,क्लासिक रम्मी मालिक,क्रिकेट जैकपॉट टिप्स,ई क्रिकेट संगरोध कप,यूरोपीय फ़ुटबॉल ऑड्स,फुटबॉल संशोधन प्रणाली,उत्पत्ति कैसीनो मलेशिया,फुटबॉल बाधा को कैसे देखता है,आईपीएल जानकारी,जैकपॉट सॉफ्टवेयर गेम्स,लाइव लाठी ऑनलाइन ब्रिटेन,लाइव वीडियो बैकारेट क्रैकिंग,लॉटरी x,नायब क्रिकेट किट,ऑनलाइन कैसीनो शीर्ष,ऑनलाइन पोकर कैसे खेलें,पैरिमैच यूरोविज़न,पोकर खेल सूची,आर/क्रिकेट पोस्ट,नियम इसलिए,रम्मी अल्टीमेट,स्लॉट मशीन हैक ऐप डाउनलोड,स्पोर्ट्स 2021 आईपीएल,स्पोर्ट्सबुक ग्रीकटाउन कैसीनो,टेक्सास होल्डम जेक ग्रैसी,शीर्ष १० गेमिंग कंपनी रेटिंग,सबसे अच्छी शतरंज और कार्ड प्रतिष्ठा क्या है,एक्स स्पोर्ट्स फिटनेस,इलेक्ट्रॉनिक खेल xm,कोरोना वायरस के लक्षण,गोवा और ड्रग्स,ट्रिपल बंदर,फुटबॉल लॉटरी qa,बेटा मां समझावे रे,लॉटरी जीतने का उपाय,स्पोर्ट्स स्टार क्रिकेट .लंबी अवधि में जमा के लिए पोस्ट ऑफिस का रुख कर रहे हैं निवेशक

पोस्ट ऑफिस प्रोडक्ट बैंकों में जमा से 130-150 बेसिस अंक अधिक ब्याज दे रहे हैं. इनमें न्यूनतम निवेश 1,000 रुपये से शुरू होता है और 100 रुपये के गुणक में इसे बढ़ाया जा सकता है.
बेहतर और सरल रिटर्न के लिए निवेशक साधारण प्रोडक्ट्स का रुख कर रहे हैं. उनकी दिलचस्पी डाकघर की बचत योजनाओं में बढ़ी है क्योंकि वे बेहतर रिटर्न प्रदान कर रही हैं. सरकार ने अप्रैल-जून तिमाही में ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है. बैंकों में जमा की तुलना में ये स्कीमें आकर्षक नजर आती हैं.

वित्तीय प्लानर्स का मानना है कि यह कुछ ही समय की बात है. जल्द की इन स्कीमों की ब्याज दरें भी कम होने वाली हैं क्योंकि अभी ब्याज दरें काफी निचले स्तरों पर हैं. रक्षात्मक निवेशकों को इस अवसर का फायदा उठाना चाहिए और अधिक ब्याज दरों पर 5-10 साल के लिए पैसा डाल देना चाहिए.

मुंबई के फाइनेंशियल डिस्‍ट्रीब्‍यूटर विनायक कुलकर्णी ने कहा, "ब्याज दरें नीचे की तरफ जा रही हैं और जल्द की इसका असर छोटी बचत योजनाओं पर भी नजर आएगा. जो निवेशक सरल प्रोडक्ट्स की तलाश कर रहे हैं, जो अधिक ब्याज दर दे रहे हों, इस मौके का फायदा उठा सकते हैं."

इसे भी पढ़ें: स्पुतनिक-वी के चलते इस फार्मा कंपनी के शेयरों ने लगाई 20% की छलांग

कई पोस्ट ऑफिस प्रोडक्ट बैंकों में जमा से 130-150 बेसिस अंक अधिक ब्याज दे रहे हैं. इन स्कीमों में न्यूनतम निवेश 1,000 रुपये से शुरू होता है और 100 रुपये के गुणक में इसे बढ़ाया जा सकता है. इनके लिए कोई ऊपरी सीमा नहीं है. इसका रिटर्न सीमित रहता है.

एसबीआई में 5-10 साल की एफडी पर निवेशकों को 5.4 फीसदा का ब्याज मिलता है. पोस्ट ऑफिस में जमा पर निवेशकों को 6.7 फीसदी ब्याज मिलता है. नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (एनएससी) पर 6.8 फीसदी का ब्याज मिलता है, जबकि किसान विकास पत्र 6.9 फीसदी की दर से 124 महीनों में पैसा दोगुना कर देता है.

सेबी पंजीकृत निवेश सलाहकार जितेंद्र सोलंकी ने कहा, "कई पोस्ट ऑफिस प्रोडक्ट बैंक एफडी से अधिक ब्याज देते हैं. सरकारी की गारंटी होने के चलते क्वालिटी से कोई समझौता नहीं है. नियमित आय के लिए यह बढ़िया बचत विकल्प है." सोलंकी के अनुसार, इस तरह के प्रोडक्ट्स समझने में आसान होते हैं.

इसे भी पढ़ें: मैक्रोटेक डेवलपर्स का आईपीओ 7 अप्रैल को खुलेगा, जानिए इश्यू की हर जानकारी

वित्तीय प्लानर्स का मानना है कि डीएचएफएल व आईएलएएंडएस द्वारा डिफॉल्ट और फ्रैंकलिन द्वारा छह डेट म्यूचुअल फंड स्कीमों को बंद करने से कई नियमित आय के साधनों में निवेश करने वाले निवेशकों को झटका लगा है. अब वे सरल प्रोडक्ट्स की तलाश कर रहे हैं.

पोस्ट ऑफिस के प्रोडक्ट ऐसे निवेशकों के लिए मुफीद हैं, जो लिक्विडिटी नहीं चाहते और पांच साल तक के लिए पैसा लगाने के लिए तैयार हैं. निवेशकों को अपने टैक्स ब्रैकेट के आधार पर ही पैसा डालना चाहिए.




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

पोस्ट ऑफिस डिपोजिटबैंक एफडीएसबीआईनेशनल सेविंग सर्टिफिकेटकिसान विकास पत्रशेयर बाजारभारतीय डाकघरभारतीय स्टेट बैंक

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र के विभिन्न फॉर्मेट में चुनौतियों और अड़चनों को दूर करने के लिए सीआईआई के तहत खुदरा सेक्‍टर के लोगों का मानना है कि सरकार को एक मजबूत रिटेल पॉलिसी लानी चाहिए.आईबीए ने बैंक कर्मचारी और अधिकारी संघों के साथ 11वीं द्विपक्षीय वेतनवृद्धि वार्ता नई सहमति के साथ सम्पन्न होने की बुधवार को घोषणा की.निवेश की शुरुआत करने जा रहे हैं? जानिए कैसे उठाएं एक-एक कदम

अपने साथ की प्रतिद्वंद्वी कंपनियों के मुकाबले डॉ रेड्डीज लैब का वैल्यूएशन कम है. साथ ही बैलेंसशीट भी मजबूत है.डेट म्‍यूचुअल फंडों की कई कैटेगरी हैं. मनी मार्केट म्‍यूचुअल फंड उनमें से एक है. ये स्‍कीमें उन लोगों के लिए मुफीद होती हैं जो अपने निवेश के साथ बहुत कम जोखिम लेना चाहते हैं. चूंकि ये स्‍कीमें छोटी अवधि के इंस्‍ट्रूमेंट में पैसा लगाती हैं. इसलिए इन पर अर्थव्‍यवस्‍था में ब्‍याज दर में होने वाले बदलाव का ज्‍यादा असर नहीं पड़ता है. मनी मार्केट इंस्‍ट्रूमेंट के साथ कम जोखिम होने के कारण भी इनमें निवेश अपेक्षाकृत सुरक्षित होता है. आइए, यहां इनके बारे में कुछ जरूरी बातों को जानते हैं.मुझे रिटायरमेंट के लिए 19 साल में ₹1.24 करोड़ जुटाने हैं, कैसे प्लानिंग करूं?

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet लाइव कैसीनो

दिग्गज आईटी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान ग्रोथ देने के चलते साल 2021-22 के लिए कर्मचारियों की सैरली बढ़ाई है.

कैसीनो वाई ट्रैगामोनदास कुआंडो अब्रेन

चूंकि एफओएफ दूसरी म्‍यूचुअल फंड स्‍कीमों में निवेश करते हैं. लिहाजा, डुप्‍लीकेशन की कॉस्‍ट आ सकती है.

ऑनलाइन वास्तविक मनोरंजन मंच

जब संस्‍थान में किसी कर्मचारी को नौकरी छोड़ने के लिए कहा जाता है तो वे आमतौर पर चौंक जाते हैं. लेकिन, कई मामलों में इसके संकेत पहले से मिलने लगते हैं. बात सिर्फ इतनी होती है कि कर्मचारी इन संकेतों का मतलब समझकर सुधार की दिशा में कदम नहीं उठा पाते हैं. आइए, यहां ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में जानते हैं.

ए स्टेटस

सर्वे में 20 से ज्‍यादा इंडस्‍ट्रीज की 1,200 कंपनियों की प्रतिक्रिया ली गई. इनमें से 1,000 ने इस साल वेतनवृद्धि के लिए कहा है.

गोवा बीच

आईबीए ने बैंक कर्मचारी और अधिकारी संघों के साथ 11वीं द्विपक्षीय वेतनवृद्धि वार्ता नई सहमति के साथ सम्पन्न होने की बुधवार को घोषणा की.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी