lovebet 122 बोनस

Publishing time:2021-10-21 17:34:41

जेड पोकर खिलाड़ी lovebet 122 बोनस betway जमा के तरीके,fun88 न्यूकैसल,lovebet 4/8,lovebet हिंदी,lovebet टा यूटी,1xbet लवबेट बेटविनर,बैकारेट एआई सॉफ्टवेयर,बैकारेट ऑनलाइन,सबसे अच्छा लाइव लाठी ब्रिटेन,किताब क्रिकेट जाल लंदन,कैसीनो केहलो,शतरंज एक संगीत,क्रिकेट बुक डीलर,क्रिकेट एक्स ऐप,यूरोपीय सट्टेबाजी कंपनी bet365,फ़ुटबॉल मंच के पीछे,जी शतरंज संकेतन,सुखी किसान परिवार,मैं कैसीनो अर्थ,जे स्पोर्ट्स,ला शतरंज अंग्रेजी में,लाइव कैसीनो वेबसाइटों,लॉटरी का खेल वीडियो,लूडो वर्ल्ड,ऑनलाइन नकद लाठी,ऑनलाइन गेम पबजी,संयुक्त राज्य अमेरिका में ऑनलाइन स्लॉट,रम्मी की बिंदु प्रणाली,पोकर युद्ध यूएसए,रूले लाइव विंसियर,रम्मी सर्कल मोबाइल ऐप,रम्मीकल्चर xl,स्लॉट्स एम्पायर नो डिपॉजिट कोड 2021,खेल समाचार आज हिंदी में,तीन पत्ती सपना,सबसे गर्म ऑनलाइन शतरंज और कार्ड रूम,आभासी कार्ड क्रिकेट,वाइल्डज़ कैसीनो,dangal डिबेट,करीना चोपड़ा,क्रिकेट भुज,चैस ऑनलाइन,परिवार quotes in hindi,बरसात बॉबी देओल की पिक्चर,रमी फ्री गेम,स्टेटस दबंग, .वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी.
नई दिल्ली: जोखिम बढ़ने और कोविड-19 महामारी के बीच अनिश्चितता के चलते निवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.

यह लगातार दूसरा वित्त वर्ष रहा जब गोल्ड ईटीएफ में निवेश हुआ. इससे पहले 2013-14 से गोल्ड ईटीएफ से लगातार निकासी देखने को मिली थी. म्यूचुअल फंडों की संस्था एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (एम्फी) के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

इसे भी पढ़ें: किसे सता रहा अमेरिका में महंगाई बढ़ने का डर?

माईवेल्थग्रोथ डॉट कॉम के सह-संस्थापक हर्षद चेतनवाला ने कहा कि इस बात की संभावना काफी कम है कि चालू वित्त वर्ष में भी गोल्ड ईटीएफ में निवेश का यह ट्रेंड जारी रहे. हालांकि, कोरोना की दूसरी लहर ने बाजार को डरा दिया है.

एम्फी के आंकड़ों के अनुसार हाल में समाप्त वित्त वर्ष में निवेशकों ने गोल्ड से जुड़े 14 ईटीएफ में शुद्ध रूप से 6,919 करोड़ रुपये का निवेश किया. यह 2019-20 में हुए 1,614 करोड़ रुपये के निवेश का चार गुना है.

इससे पहले 2018-19 में गोल्ड ईटीएफ से शुद्ध रूप से 412 करोड़ रुपये की निकासी हुई थी. 2017-18 में गोल्ड ईटीएफ से 835 करोड़ रुपये, 2016-17 में 775 करोड़ रुपये, 2015-16 में 903 करोड़ रुपये, 2014-15 में 1,475 करोड़ रुपये और 2013-14 में 2,293 करोड़ रुपये निकाले गए थे.

इसे भी पढ़ें: विदेशी निवेशकों ने अप्रैल में भारतीय बाजार से निकाले 929 करोड़ रुपये

हालांकि, साल 2012-13 के दौरान इस सेगमेंट में 1,414 करोड़ रुपये का निवेश हुआ था. बीते कुछ सालों से रिटेल निवेशकों ने बेहतर रिटर्न की चाहत में गोल्ड ईटीएफ की तुलना में इक्विटी बाजार में अधिक पैसा डाला है.

क्वांटम म्यूचुअल फंड के सीनियर फंड मैनेजर (ऑल्टरनेटिव इंवेस्टमेंट) चिराग मेहता ने कहा, "अधिक जोखिम और कोरोना वायरस के चलते बढ़ी अस्थिरता का असर इक्विटी जैसे जोखिम भरे एसेट्स को प्रभावित करेंगी. निवेशकों की दिलचस्पी गोल्ड जैसे सुरक्षित एसेट्स में बढ़ सकती है."




हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

गोल्ड ईटीएफक्वांटम म्यूचुअल फंडएम्फीशेयर बाजारईटीएफएक्सचेंज ट्रेडेड फंडमाईवेल्थग्रोथ डॉट कॉमकोरोना वायरस

ETPrime stories of the day

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?
Electric vehicles

Financing is still a blind spot for EVs. Can Ola Electric be the game changer?

10 mins read
Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?
Agriculture

Kisan Credit Card is critical for agriculture. But can the scheme overcome the challenges?

7 mins read
वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड ईटीएफ में निवेश चार गुना बढ़ा

नेशनल पेंशन सिस्टम (एनपीएस) में लोगों की दिलचस्पी बढ़ाने की कई कोशिश की जा रही है.भुवनेश्वर, 20 अक्टूबर (भाषा) इन्फोसिस के सह-संस्थापक नारायण मूर्ति ने मंगलवार को कहा कि एक अच्छा नागरिक होने का मतलब समाज को अपना मानना है। वर्चुअल तरीके से आईआईटी भुवनेश्वर के 10वें वार्षिक दीक्षांत समारोह में बोलते हुए, मूर्ति ने रेखांकित किया कि देश में गरीबी को दूर करने का एकमात्र तरीका बेहतर आय के साथ अधिक से अधिक रोजगार सृजित करना है। मूर्ति ने अपने संबोधन में कहा, ‘‘युवाओं की शक्ति, मूल्यों, आकांक्षाओं, ऊर्जा, आत्मविश्वास, दृढ़ संकल्प, अनुशासन और उत्साहकेंद्रीय मंत्री ने छत्तीसगढ़ में भिलाई इस्पात संयंत्र की चूना पत्थर खदानों का दौरा किया

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) ताप बिजलीघरों में कोयले की कमी बरकरार है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, खानों से दूर स्थित चार दिन से कम कोयला भंडार (सुपर क्रिटिकल स्टॉक) वाले बिजली संयंत्रों की संख्या मंगलवार को बढ़कर 61 पर पहुंच गयी। केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण (सीईए) के कोयला भंडार पर ताजा आंकड़ों के अनुसार, खानों से दूर स्थित चार दिन से कम के कोयला भंडार वाले बिजली संयंत्रों की संख्या 19 अक्टूबर को बढ़कर 61 पहुंच गयी जो 18 अक्टूबर को 58 थी। आंकड़ों से पता चलता है कि चार दिन के कोयला भंडार वाले बिजलीघरों की संख्या पिछले सप्ताहकोलकाता, 20 अक्टूबर (भाषा) निर्यातकों ने बांग्लादेश के लिए माल ले जा रहे ट्रकों के लिए पेट्रापोल और घोजाडांगा जमीनी सीमाओं पर लंबी प्रतीक्षा अवधि को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है। निर्यातकों ने बुधवार को बताया कि माल निर्यात करने वाले ट्रकों को एक महीने से अधिक समय के लिए रोका हुआ है। कुछ मामलों में ट्रक 55 दिनों से खड़े हुए हैं। फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट्स के चेयरमैन (पूर्व) सुशील पटवारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “ट्रकों की लंबी प्रतीक्षा अवधि के कई कारण है। दोनों देशों से निर्यात की मात्रा बढ़ी है और दुर्गा पूजा की छुट्टियों नेप्राइम इंवेस्टर ने निवेशकों को फ्रैंकलिन की सभी स्कीमों से निकलने की दी सलाह

कोलकाता, 20 अक्टूबर (भाषा) निर्यातकों ने बांग्लादेश के लिए माल ले जा रहे ट्रकों के लिए पेट्रापोल और घोजाडांगा जमीनी सीमाओं पर लंबी प्रतीक्षा अवधि को लेकर कड़ी नाराजगी जताई है। निर्यातकों ने बुधवार को बताया कि माल निर्यात करने वाले ट्रकों को एक महीने से अधिक समय के लिए रोका हुआ है। कुछ मामलों में ट्रक 55 दिनों से खड़े हुए हैं। फेडरेशन ऑफ इंडियन एक्सपोर्ट्स के चेयरमैन (पूर्व) सुशील पटवारी ने पीटीआई-भाषा से कहा, “ट्रकों की लंबी प्रतीक्षा अवधि के कई कारण है। दोनों देशों से निर्यात की मात्रा बढ़ी है और दुर्गा पूजा की छुट्टियों नेनिवेशकों के सोने का आकर्षण बढ़ा है. वित्त वर्ष 2020-21 में गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (ईटीएफ) में निवेशकों ने 6,900 करोड़ रुपये डाले.यूएई ने भारत को ऊर्जा की आपूर्ति का आश्वासन दिया

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


जेड कैसीनो सेंट्रल सिटी
तीन पत्ती विजेता APK
क्रिकेट 7 मुफ्त डाउनलोड करें
लियोवेगास ईमेल
बीटीविन 920
ऑनलाइन स्लॉट यूएसए कोई जमा बोनस नहीं
च स्पोर्ट्स यूट्यूब
गोवा भाषा
आईपीएल विजेता 2021
क्रिकेट पिच की लंबाई मीटर . में
जन्मदिन मुबारक हो किसान की पत्नी
ऑनलाइन कैसीनो vklad paysafecard
विलियम हिल स्पोर्ट्स
lovebet टीआर 10
तीन पत्ती रम्मी गेम
188bet अनंग डंग
उत्पत्ति कैसीनो एपीके डाउनलोड
lovebet वी सेस्कु
जी फुटबॉल लोगो
क्या ऑनलाइन कैसीनो विश्वसनीय हैं?
रमी मॉडर्न ऐप डाउनलोड apkpure
खुश किसान विकिपीडिया
साइटस जूडी fun88
स्पोर्ट्सवन 0-100
188bet मलेशिया
जीएच स्पोर्ट्स अलीएक्सप्रेस
लाइव वीडियो बैकारेट गेम सॉफ्टवेयर