पी लॉटरी पिक 3

पी लॉटरी पिक 3

time:2021-10-21 17:39:40 विद्युत सचिव ने आपूर्ति संकट से निपटने के लिए रणनीतिक ईंधन भंडार की जरूरत पर जोर दिया Views:4591

कैसीनो रोड ग्रेस्टेन्स पी लॉटरी पिक 3 10cric कैसीनो,betway बनाम बेट365,लियोवेगास नौकरियां,lovebet ऐप प्रोमो कोड,lovebet एम कैसीनो घंटे,lovebet वापसी,एक पोकर हाथ में 5 कार्ड होते हैं,बैकारेट क्रिस्टल भारत,बैकरेट कौशल,बेटिंग कंपनी एजेंट संचार,कैसीनो 4k वॉलपेपर,कैसीनो श कोरोना,क्लासिक रम्मी ऐप स्टोर,क्रिकेट जीके प्रश्नोत्तरी हिंदी में,डीएच स्पोर्ट्स ऐप,यूरोपीय कप थीम सांग,फ़ुटबॉल लैंडिंग URL,उत्पत्ति कैसीनो ब्रांड,एचडी स्पोर्ट्स आईपीएल,आईपीएल बेस्ट टीम,जैकपॉट मूवी mp3 गाना डाउनलोड,Android के लिए लाइव लाठी,लाइव रूले आरटीपी,भारत में लॉटरी टिकट की कीमत,मिस्टेक कैसीनो,ऑनलाइन कैसीनो पेपैल,ऑनलाइन पोकर कार्ड गेम,Baccarat में जोड़े,पोकर कुत्ता,ऑनलाइन baccarat डेमो प्रदान करें,रॉयल विन ऐप,रम्मी पैशन मोबाइल ऐप,स्लॉट मशीन जन्मदिन का केक,स्लॉट्सडेलन 9,स्पोर्ट्सबुक सट्टेबाजी,टेक्सास होल्डम मुफ्त पूर्ण संस्करण डाउनलोड करें,द अनफॉरगिवेन क्रिकेट बुक रिव्यू,Baccarat के मंच क्या हैं,विश्व प्रारंभिक चीनी टीम समय सारिणी,इलेक्ट्रॉनिक खेल generator,कैसीनो के खेल login,गोल्डन ड्रैगन बॉल,जोकर वाला टिक टॉक,फुटबॉल पसंदीदा,बेटा ठाकुर ना लाइव प्रोग्राम,लॉटरी कूपन,स्पोर्ट्स न्यूज़ लाइव .विद्युत सचिव ने आपूर्ति संकट से निपटने के लिए रणनीतिक ईंधन भंडार की जरूरत पर जोर दिया

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय विद्युत सचिव आलोक कुमार ने बृहस्पतिवार को विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी की पृष्ठभूमि में कम से कम एक महीने के लिए देश को आपूर्ति संकट से बचाने की खातिर रणनीतिक ईंधन भंडार के निर्माण की जरूरत पर जोर दिया।

भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित दक्षिण एशिया विद्युत सम्मेलन 'मूविंग टुवर्ड्स सस्टेनेबल एनर्जी सिक्योरिटी' में कुमार ने कहा कि देश में कोयले के इस संकट का मुख्य कारण कोयले, विशेष रूप से आयातित कोयले की ऊंची कीमत है।

देश में विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी को देखते हुए ये टिप्पणियां महत्व रखती हैं।

कुमार ने कहा, "हम खबरों में कोयले की बहुत अधिक कीमतों के कारण (विद्युत) आपूर्ति में व्यवधान के बारे में पढ़ रहे हैं ... मैं कोयले, गैस और तेल की बहुत अधिक कीमत और आपूर्ति में व्यवधान के बारे में बात कर रहा था जो कि चीन, सिंगापुर, यूके, यूरोप हर जगह हो सकता है।"

उन्होंने कहा कि कम से कम दस वर्षों या उससे अधिक समय तक सभी देश, विशेष रूप से प्रमुख अर्थव्यवस्थाएं, बेस लोड और ग्रिड संतुलन के लिए जीवाश्म ईंधन की आपूर्ति पर निर्भर होंगी।

सचिव कहा, "हम आयातित ईंधन के इन आपूर्ति झटकों से खुद को कभी भी अलग नहीं कर पाएंगे। हमारे पास आयातित कोयले पर आधारित 17,000 मेगावाट क्षमता है और अगर आयातित कोयले की कीमतें अधिक हो जाती हैं ... वह क्षमता समाप्त हो जाती है। भारत में 24,000 मेगावाट क्षमता के गैस संचालित विद्युत संयंत्र हैं। वे भी व्यावहारिक रूप से बाहर हैं। इसलिए, ऊंची कीमतें ऊर्जा सुरक्षा को बहुत चुनौतीपूर्ण बना देंगी, इसलिए हमें एक सुविचारित रणनीति का निर्माण करने की जरूरत है।"

उन्होंने कहा, "आइए, हम इन ईंधनों (कोयला, गैस, तेल) के रणनीतिक भंडार को बनाए रखने के बारे में सोचना शुरू करें ताकि अर्थव्यवस्थाएं लगभग एक या दो महीने के लिए आपूर्ति की कमी को समायोजित कर सकें और उनसे पार पा सकें।"

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?
Investing

MedPlus has scale, Wellness Forever scores in product mix. Which IPO will get more investor love?

10 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game
Artificial intelligence

Smarter, better, and now more affordable: AI is becoming omnipresent as it steps up its game

15 mins read

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) एयरोस्पेस और रक्षा क्षेत्र की कंपनी रोल्स रॉयस ने बुधवार को कहा कि वह भारतीय नौसेना के 'फ्लीट ऑफ द फ्यूचर' के लिए इलेक्ट्रिक युद्धपोतों के विकास के लिए उसके साथ साझेदारी करने को इच्छुक है। रोल्स रॉयस ने एक बयान में कहा कि कंपनी भारतीय नौसेना के ग्राहकों को ब्रिटेन के आगामी कैरियर स्ट्राइक ग्रुप टूर के तहत भारत की नौसेना आधुनिकीकरण आवश्यकताओं के लिए अनुकूलित बिजली और प्रणोदन समाधान के डिजाइन, निर्माण और वितरित करने की अपनी क्षमताओं का प्रदर्शन करने के लिए तैयार है।Festive Shopping: ​​​एक साल पहले की तुलना में पेट्रोल और डीजल की कीमत 35 फ़ीसदी तक अधिक है। इसी तरह कुकिंग गैस के भाव में 50 फ़ीसदी से अधिक की वृद्धि हुई है।भारत ने लोगों के कल्याण के लिए अनुकरणीय क्षमताओं का प्रदर्शन किया: नीति आयोग के उपाध्यक्ष

चीन की सबसे बड़ी रियल एस्टेट कंपनियों में से एक Evergrande का संकट गहरा गया है। इसका असर दुनियाभर के बाजारों पर पड़ने की आशंका है। गुरुवार को कपनी के शेयरों में 14 फीसदी गिरावट आई। 17 दिन बाद हॉन्गकॉन्ग में कंपनी के शेयरों की ट्रेडिंग शुरू हुई थी।मुंबई, 21 अक्टूबर (भाषा) वैश्विक बाजारों में सकारात्मक रुख और एचडीएफसी, एचडीएफसी बैंक, कोटक बैंक और इंफोसिस के शेयरों में तेजी के साथ सेंसेक्स में बृहस्पतिवार को शुरुआती कारोबार में 250 अंक से अधिक की तेजी आयी। शुरुआती सौदों में 30 शेयरों वाला सूचकांक 265.84 अंक या 0.43 प्रतिशत बढ़कर 61,525.80 पर कारोबार कर रहा था। इसी तरह निफ्टी 93.45 अंक या 0.51 प्रतिशत की तेजी के साथ 18,360.05 पर था। सेंसेक्स में सन फार्मा लगभग दो प्रतिशत की तेजी के साथ शीर्ष पर थी। इसके बाद पावरग्रिड, एनटीपीसी, एचडीएफसी, कोटक बैंक और एमएंडएम के शेयरों का स्थान रहा। दूसरी ओर,शुरुआती कारोबार में रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले तीन पैसे चढ़कर 74.85 पर पहुंचा

जिस तरह से मस्क की नेटवर्थ बढ़ रही है, उससे वह दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर (Trillionaire) बन सकते हैं। यानी उनकी नेटवर्थ आने वाले दिनों में 1 लाख करोड़ डॉलर पहुंच सकती है। Morgan Stanley के एनालिस्ट Adam Jones का कहना है कि मस्क की कंपनी स्पेसएक्स (SpaceX) में विकास की अपार संभावनाएं हैं। यही वजह है कि मस्क के दुनिया के पहले ट्रिलिनेयर बनने की संभावना बढ़ गई है। टेस्ला के तीसरी तिमाही के नतीजों के मुताबिक कंपनी की नेट इनकम 1.62 अरब डॉलर रही। यह दूसरा मौका है जब कंपनी की इनकम 1 अरब डॉलर के पार पहुंची है। पिछली तिमाही में कंपनी की नेट इनकम 33.1 करोड़ डॉलर रही थी।केंद्रीय कैबिनेट (union cabinet) की आज बैठक हो रही है जिसमें केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता (DA) बढ़ाने पर फैसला हो सकता है। इससे 1 करोड़ से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को फायदा होगा। केंद्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 3 फीसदी की बढ़ोतरी की जा सकती है।बिजलीघरों में कोयले की कमी बरकरार, चार दिन से कम कोयला भंडार वाले संयंत्रों की संख्या 61 पहुंची

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
परिमच अपडेट

OTP: ऑनलाइन या डिजिटल प्लैटफॉर्म पर पेमेंट करते वक्त यूजर्स की ओर से ही पेमेंट किया जा रहा है, यह कन्फर्म करने के लिए मोबाइल पर वन टाइम पासवर्ड (ओटीपी) आता है।

बैकारेट पैराडाइज

LPG Price: ​​आईएमएफ इंडिया के पूर्व चीफ ने कहा है कि कोरोनावायरस संकट के बाद देश के लोगों की स्थिति में सुधार के लिए सरकार को लोगों की मदद करने की जरूरत है।

मेरे पास lovebet

New Rules For International Travelers: मोदी सरकार ने कोरोना काल में सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। इसमें कोरोना का टीका लगवाने से लेकर खुद को अलग रखने तक के नियम शामिल हैं। यह मानक संचालन प्रक्रिया 25 अक्टूबर से अगले आदेश तक वैध रहेगी। स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से जोखिम आकलन के आधार पर दिशानिर्देशों की समय-समय पर समीक्षा की जाएगी।

वेबकैम के साथ ऑनलाइन पोकर

नयी दिल्ली, 21 अक्टूबर (भाषा) केंद्रीय विद्युत सचिव आलोक कुमार ने बृहस्पतिवार को विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी की पृष्ठभूमि में कम से कम एक महीने के लिए देश को आपूर्ति संकट से बचाने की खातिर रणनीतिक ईंधन भंडार के निर्माण की जरूरत पर जोर दिया। भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित दक्षिण एशिया विद्युत सम्मेलन 'मूविंग टुवर्ड्स सस्टेनेबल एनर्जी सिक्योरिटी' में कुमार ने कहा कि देश में कोयले के इस संकट का मुख्य कारण कोयले, विशेष रूप से आयातित कोयले की ऊंची कीमत है। देश में विद्युत संयंत्रों में कोयले की कमी को देखते हुए ये टिप्पणियां महत्व

परिमच यूक्रेन

LPG Price: ​​आईएमएफ इंडिया के पूर्व चीफ ने कहा है कि कोरोनावायरस संकट के बाद देश के लोगों की स्थिति में सुधार के लिए सरकार को लोगों की मदद करने की जरूरत है।

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
विश्व कप बाधाओं का विश्लेषण

नयी दिल्ली, 20 अक्टूबर (भाषा) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को वैश्विक तेल और गैस कंपनियों को भारत आने और यहां तेल एवं प्राकृतिक गैस क्षेत्र में संभावना तलाशने को आमंत्रित किया। उन्होंने क्षेत्र में सरकार की ओर से किये गये सुधारों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। तेल और गैस क्षेत्र की वैश्विक कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) और विशेषज्ञों से सालाना बातचीत में उन्होंने कहा कि हम भारत को तेल और गैस क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाना चाहते हैं। उद्योग प्रमुखों ने ऊर्जा पहुंच, ऊर्जा को सस्ता बनाने तथा ऊर्जा सुरक्षा के क्षेत्रों में सुधार को लेकर